शब्जी मंडियों पर मुसलमानों का बढ़ता बर्चस्व खत्म होते हिन्दु आढ़ती , जमीन जिहाद , लव जिहाद , के बाद अब शब्जी मंडी जिहाद । #HinduarmyChief मुसलमान कैसे छीनता है आपका व्यवसाय और आपको लगता हैं कि हिंदू व्यवसाय नहीं करना चाहता! #हिन्दूआर्मी

शब्जी मंडियों पर मुसलमानों का बढ़ता बर्चस्व खत्म होते हिन्दु आढ़ती , जमीन जिहाद , लव जिहाद , के बाद अब शब्जी मंडी जिहाद । #HinduarmyChief
मुसलमान कैसे छीनता है आपका व्यवसाय और आपको लगता हैं कि हिंदू व्यवसाय नहीं करना चाहता! #हिन्दूआर्मी

इसके पीछे बहुत बड़ा षड्यंत्र है फूलपुर(प्रयागराज) सब्जी मंडी में। मुसलमानों ने कश्मीर की तरह सब्जी मंडी पर भी कब्जा कर रखा है। #sushiltiwari

सबसे पहले बड़ी सब्जी मंडियों में मुसलमान अपना जिहादी समूह बनाता है। छोटे हिंदू फल विक्रेताओं को कुजडो़(मुसलमानों) द्वारा ₹35 दर्जन का केला ₹45 में देते हैं, जबकि मुसलमानों को वही केला केवल ₹35 में ही देते है। जब इसी सामान सामान को हिंदू छोटे मार्केट में बेचने जाता है तो उसका सामान महगा होता है और मुसलमान का सस्ता। हिंदू ग्राहक भी सस्ते के चक्कर में मुसलमान से ही सामान खरीदना चालू कर देते हैं। कुछ दिन संघर्ष करने के बाद हिंदू फल विक्रेता को अपनी दुकान बंद करनी पड़ती है। इस कारण छोटे हिंदू फल विक्रेता धीरे-धीरे कर खत्म हो जाता है और मुस्लिम फल विक्रेताओं का साम्राज्य स्थापित हो जाता है। फिर सारे मुसलमान मिलकर हिंदू ग्राहकों को ऊंचे दाम पर लूटते है। जैसे ही छोटी जगहों पर मुस्लिम फल विक्रेता स्थापित हो जाता है वह बड़ी मंडियों में केवल मुसलमान व्यापारी से ही सामान खरीदता है। इसी को ‘सब्जी जिहाद’ कहते हैं। #HinduArmy

कभी आपने सोचा सारी सब्जियां तो हिंदू उगाता है फिर भी उसके उसके व्यापारी मुसलमान ही क्यों होता है? बड़ी सब्जी मंडियों में जिहादी समूह बनाकर ऐसा करने में सफल हो जाते हैं। मजबूरन हिंदू किसानों को अपनी सब्जियां सस्ते और औने-पौने दाम पर बेचनी पड़ती है। #हिन्दुराष्ट्र

यह काम गांव प्रतापपुर(प्रयागराज) से लेकर शहर कटरा(प्रयागराज) और महानगरों ओखला(नई दिल्ली) तक हो रहा है। दुर्भाग्य से अधिकतर इन मंडियों के अध्यक्ष हिंदू हैं और मैंने उससे बात करने की कोशिश की लेकिन वे पैसे लेकर चुप है। मैंने एक सप्ताह का समय इस सर्वे को दिया, कई लोगों से बात की, फिर इस निर्णय पर पहुंचा। मुझे यह जानकर आश्चर्य हुआ कि फूलपुर(प्रयागराज) में बड़ा मुस्लिम व्यापारी हिंदुओं को खुलेआम दाम बताता है जबकि मुसलमानों को अपने हाथ को तौलिया से छुपाकर कर उंगली दबाकर दाम बताता है ताकि बगल में खड़े हिंदू को सही दाम पता ना चल सके। #सुशीलतिवारी

आज आप चुप रहो, कल आप के धंधे की बारी होगी! www.hinduarmy.org

1 reply
  1. smartweb
    smartweb says:

    कभी आपने सोचा?
    ~ दिल्ली के सैलून में, बाल काटने वाले केवल मुसलमान ही क्यों मिलते है? #HinduarmyChief #sushiltiwari
    ~ आपकी गाड़ी बनाने वाला मैकेनिक मुसलमान ही क्यों होता है?

    जमीन जिहाद , लव जिहाद , के बाद अब शब्जी मंडी जिहाद । #HinduarmyChief
    मुसलमान कैसे छीनता है आपका व्यवसाय और आपको लगता हैं कि हिंदू व्यवसाय नहीं करना चाहता! #हिन्दूआर्मी

    इसके पीछे बहुत बड़ा षड्यंत्र है फूलपुर(प्रयागराज) सब्जी मंडी में। मुसलमानों ने कश्मीर की तरह सब्जी मंडी पर भी कब्जा कर रखा है। #sushiltiwari

    सबसे पहले बड़ी सब्जी मंडियों में मुसलमान अपना जिहादी समूह बनाता है। छोटे हिंदू फल विक्रेताओं को कुजडो़(मुसलमानों) द्वारा ₹35 दर्जन का केला ₹45 में देते हैं, जबकि मुसलमानों को वही केला केवल ₹35 में ही देते है। जब इसी सामान सामान को हिंदू छोटे मार्केट में बेचने जाता है तो उसका सामान महगा होता है और मुसलमान का सस्ता। हिंदू ग्राहक भी सस्ते के चक्कर में मुसलमान से ही सामान खरीदना चालू कर देते हैं। कुछ दिन संघर्ष करने के बाद हिंदू फल विक्रेता को अपनी दुकान बंद करनी पड़ती है। इस कारण छोटे हिंदू फल विक्रेता धीरे-धीरे कर खत्म हो जाता है और मुस्लिम फल विक्रेताओं का साम्राज्य स्थापित हो जाता है। फिर सारे मुसलमान मिलकर हिंदू ग्राहकों को ऊंचे दाम पर लूटते है। जैसे ही छोटी जगहों पर मुस्लिम फल विक्रेता स्थापित हो जाता है वह बड़ी मंडियों में केवल मुसलमान व्यापारी से ही सामान खरीदता है। इसी को ‘सब्जी जिहाद’ कहते हैं। #HinduArmy

    कभी आपने सोचा सारी सब्जियां तो हिंदू उगाता है फिर भी उसके उसके व्यापारी मुसलमान ही क्यों होता है? बड़ी सब्जी मंडियों में जिहादी समूह बनाकर ऐसा करने में सफल हो जाते हैं। मजबूरन हिंदू किसानों को अपनी सब्जियां सस्ते और औने-पौने दाम पर बेचनी पड़ती है। #हिन्दुराष्ट्र

    यह काम गांव प्रतापपुर(प्रयागराज) से लेकर शहर कटरा(प्रयागराज) और महानगरों ओखला(नई दिल्ली) तक हो रहा है। दुर्भाग्य से अधिकतर इन मंडियों के अध्यक्ष हिंदू हैं और मैंने उससे बात करने की कोशिश की लेकिन वे पैसे लेकर चुप है। मैंने एक सप्ताह का समय इस सर्वे को दिया, कई लोगों से बात की, फिर इस निर्णय पर पहुंचा। मुझे यह जानकर आश्चर्य हुआ कि फूलपुर(प्रयागराज) में बड़ा मुस्लिम व्यापारी हिंदुओं को खुलेआम दाम बताता है जबकि मुसलमानों को अपने हाथ को तौलिया से छुपाकर कर उंगली दबाकर दाम बताता है ताकि बगल में खड़े हिंदू को सही दाम पता ना चल सके। #सुशीलतिवारी

    आज आप चुप रहो, कल आप के धंधे की बारी होगी!
    http://www.hinduarmy.org

    ~ आपको फल मुसलमान से ही क्यों खरीदना पड़ता है? यही तरीका मांस के व्यापार में भी लगाया जा रहा है। आज आप चुप रहो, कल आप के धंधे की बारी होगी! एक रुपए का भी सामान खरीदें, तो भी हिंदू के पास से खरीदें। हिंदू राष्ट्र स्थापना का, यह पहला कदम होगा। hindi army sushil tiwari

    Reply

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *